languagetaxoomy: Hindi

गोरखपुर में 64 बच्चों की मौत राज्य प्रायोजित जनसंहार है

गोरखपुर में 64 बच्चों की मौत राज्य प्रायोजित जनसंहार है : माले बच्‍चों की मौत के जिम्‍मेदार योगी आदित्‍यनाथ इस्‍तीफा दो । स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रव्यापी प्रतिवाद । दिल्‍ली 12 अगस्त 2017 गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज अस्‍पताल में 63 बच्‍चों की मौत ने पूरे देश को दहला दिया है। बड़े शर्म की बात है कि जब हम भारत की आजादी के 70 सालों का जश्‍न मनाने की बातें कर रहे हैं तब देश के अस्‍पताल आज भी गरीब बच्‍चों के लिए मौत का कु्ंआ बने हुए हैं। इन मौतों को महज प्रशासनिक लापरवाही का नतीजा...

Read More

फासीवादी आहट के दौर में अम्बेडकर का पुनर्पाठ

‘प्रतीकों को हथियाने’ के अभियान के अंग के बतौर भाजपा हिंदुत्व की सेवा में अम्बेडकर पर कब्जा जमाने के लिये बेहद उतावली है. बताया जा रहा है कि अम्बेडकर जातियों के परे एक सशक्त राष्ट्र के पक्ष में खड़े थे और इसी लक्ष्य को भाजपा हिंदुओं के एकीकरण के जरिये हासिल करना चाहती है. अम्बेडकर दलितों के सशक्तीकरण के पक्ष में खड़े थे, और भाजपा के प्रचारकों ने रामनाथ कोविन्द के चुनाव को इस लक्ष्य के प्रति भाजपा की प्रतिबद्धता  के सबसे बड़े प्रमाण के बतौर पेश करना शुरू कर दिया है. अम्बेडकर भारतीय गणतंत्र के संविधान के मुख्य...

Read More

बीजेपी के साथ नीतीश का जाना, विधानसभा के जनादेश से होगा धोखा : दीपंकर भट्टाचार्य

महागठबंधन के बड़े दल होने के नाते बीजेपी की ओर नीतीश को जाने से रोकने की जवाबदेही लालू प्रसाद की. पटना 26 जुलाई 2017 भाकपा-माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य ने नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद कहा है कि महागठबंधन की राजनीतिक एकता नोटबन्दी अथवा राष्ट्रपति चुनाव आदि मामलों में पहले से ही कमजोर दिख रही थी. इन मामलों में नीतीश कुमार ने BJP का साथ दिया. उनमें शुरू से ही भाजपा की ओर भागने की प्रवृत्ति रही है. उन्होंने कहा कि यदि नीतीश कुमार भाजपा से फिर गलबहियां करते हैं, तो यह बिहार विधानसभा चुनाव 2015 से घोर विश्वासघात होगा. नीतीश कुमार को यह याद रखना चाहिए कि बिहार की जनता ने भाजपा की जहीरले सांप्रदायिक व विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ उन्हें वोट दिया था. यह भी कहा कि महागठबंधन का बड़ा दल होने के नाते यह राजद की जिम्मेवारी बनती है कि वह नीतीश कुमार को बीजेपी की तरफ से जाने रोकें और चुनाव में बिहार की जनता से किए गए वादों को पूरा करे. -कुमार परवेज कार्यालय सचिव, भाकपा-माले,...

Read More

बल्लभगढ़ में ट्रेन में उन्‍मादी भीड़ द्वारा हत्‍या व मुसलमानों पर हमले की घटना पर भाकपा (माले) व आइसा जांच टीम की रिपोर्ट

बल्लभगढ़ में ट्रेन में उन्‍मादी भीड़ द्वारा हत्‍या व मुसलमानों पर हमले की घटना पर भाकपा (माले) व आइसा जांच टीम की रिपोर्ट 22 जून की रात एक लोकल ईएमयू ट्रेन से दिल्ली से बल्लभगढ़ जा रहे एक 15 साल के मुसलमान युवक जुनैद को ट्रेन में उन्‍मादी भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला. इसमें उसके भाई हाशिम और शाकिर भी बुरी तरह से घायल हो गए. हाशिम को हॉस्पिटल से घर भेज दिया गया जबकि शाकिर अभी एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती है. नीरज (दिल्ली आइसा सचिव), संतोष राय (भाकपा माले दिल्ली राज्य कमेटी सदस्य एवं एक्टू...

Read More

रामनाथ कोविंद को समर्थन देकर नीतीश ने बीजेपी से निभाई पुरानी यारी : CPIML

नीतीश ने निभाई पुरानी यारी, बिहार जनादेश का किया अपमान: CPIML पटना 21 जून 2017 भाकपा- माले के राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि भाजपा के राष्ट्रपति के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का नीतीश कुमार द्वारा समर्थन किया जाना बिहार जनादेश 2015 का घोर अपमान है. नीतीश कुमार को भाजपा की सांप्रदायिक नीतियों के खिलाफ गरीबों ने वोट किया था, लेकिन आज वे उससे विश्वासघात करते हुए एक बार फिर से भाजपा से अपनी पुरानी यारी निभाने में लग गए हैं. हमारी पार्टी नीतीश कुमार के इस अवसरवादी रुख की कड़ी भर्त्सना करती है. उन्होंने आगे कहा कि एक...

Read More

स्‍वच्‍छ भारत अभियान के नाम में महिलाओं की फोटोग्राफी/वीडियोग्राफी करने से रोकने पर भाकपा(माले) कार्यकर्ता जफर हुसैन की नगर पालिका कमिश्‍नर के उकसावे पर पालिका कर्मियों द्वारा हत्‍या

खुले में शौच जाने वाली महिलाओं की स्‍वच्‍छ भारत अभियान के नाम में फोटोग्राफी/वीडियोग्राफी करने से रोकने पर राजस्‍थान में भाकपा(माले) कार्यकर्ता कामरेड जफर हुसैन की नगर पालिका कमिश्‍नर के उकसावे पर पालिका कर्मियों द्वारा हत्‍या नई दिल्‍ली, 16 जून 2017. 16 जून 2017 की सुबह राजस्‍थान में प्रतापगढ़ नगरपालिका कर्मियों द्वारा नगरपालिका कमिश्‍नर अशोक जैन के उकसावे पर भाकपा (माले) कार्यकर्ता श्री जफर हुसैन की पीट-पीट कर हत्‍या कर दी गई. कामरेड जफर हुसैन वार्ड नम्‍बर 2, कच्‍ची बस्‍ती के पास शौच जाने वाली महिलाओं के फोटो और वीडियो बनाने से इन पालिका कर्मियों को रोकने का प्रयास...

Read More

छात्राओं को पंख लगाने की बजाए पंख कतरने में लगे हैं नीतीश कुमार, स्कूल-काॅलेज बन गए हैं कत्लगाह: मीना तिवारी.

प्रेस हैंड आउट (11 January) वैशाली के अंबेदकर कन्या वि़द्यालय छात्रा हत्याकांड की उच्चस्तरीय जांच कराये सरकार. हत्यारे-बलात्कारी की शिनाख्त कर अविलंब कड़ी सजा दी जाए. 17 जनवरी को राज्यव्यापी प्रतिवाद. —————————————————————————————– पटना 11 जनवरी 2016 वैशाली के दौलतपुर के राजकीय अंबेदकर कन्या आवासीय विद्यालय की 10 वीं कक्षा में पढ़ रही मेरी बेटी ने दिनांक 6 जनवरी की शाम में मुझे फोन किया और मुझे स्कूल आने को कहा. अगली सुबह 7 जनवरी को मैं स्कूल पहुंची. बेटी ने मुझसे किसी सर का जिक्र करते हुए कहा कि – ‘सर गलत कार्य करने को कहते हैं. कहते हैं कि ऐसा करोगी तो परीक्षा में नंबर बढ़वा देंगे.’ इतना सुनने के बाद मैंने कहा कि प्राचार्य से बात करती हूं. मेरी बेटी ने मुझे रोकते हुए कहा -‘नहीं, मां, तुम्हारे जाने के बाद मुझे ये मारे-पीटेंगे.’ मैंने एक न सुनी और अपनी बेटी का झोला-सामान लेकर चलने को कहा. जब मैं अपनी बेटी को हाॅस्टल से घर ले जाने लगी, तो वहां के शिक्षकों ने उसे मेरे साथ जाने नहीं दिया. उसका झोला वगैरह छीन लिया और मुझे स्कूल के गेट से बाहर कर दिया गया. मैं निराश होकर घर लौट आई, शाम में उससे बात हुई. अगले दिन फकुली पुलिस थाने के जरिए मुझे पता चला कि मेरी बेटी इस दुनिया में नहीं रही. जब मैं स्कूल पहुंची, तो उसके शरीर के चीथड़े कर दिए गए थे. उसके...

Read More

नोटबंदी की आपदा — सरकारी दावे और हकीकत

नोटबंदी की आपद — सरकारी दावे और हकीकत एेसे चली नोटबंदी किसको हुआ नुकसान, और कौन रहा फायदे में ? नोट बंदी की पोल खुली भ्रष्टाचार कम हुआ ? या नोटबंदी से भ्रष्टाचार के नये रूप सामने आये हैं ? भाजपा का नोटबंदी घोटाला ‘कैशलेस’ का हमला कहीं पर नजर है, कहीं है निशाना मोदी आपातकाल नागरिकों के नुकसान का मुआवजा...

Read More

संकल्प दिवस पर कॉरेपोरेट फासीवाद का मुकाबला करने का संकल्प

लालकुआं, बिन्दुखत्ता, 18 दिसम्बर 2016 भाकपा(माले) के पूर्व महासचिव कॉमरेड विनोद मिश्र की 18 वीं पुण्यतिथि पर भाकपा(माले) की जिला कमेटी ने संकल्प दिवस मनाया। कॉमरेड विनोद मिश्र को याद करते हुए दो मिनट का मौन रखकर पुष्प अर्पित किये। कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए पार्टी के राज्य सचिव राजेन्द्र प्रथोली ने कहा कि विपरीत राजनीतिक परिस्थितियों में भी पार्टी को आगे बढ़ाने की सीख कॉमरेड विनोद मिश्र ने दी है। आज फिर से मोदी सरकार द्वारा तैयार कॉरेपोरेट फासीवाद का मुकाबला वामपंथ को करना है। राजेन्द्र प्रथोली ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने कालेधन को निकालने के नाम पर देश में आर्थिक आपातकाल लगा रखा है। मोदी सरकार काला धन को आधी कीमत पर सफेद करने की सरकारी एजेंसी बन गयी है। अच्छे दिन लाने के नाम पर जो नोटबंदी की गयी उससे देश के बड़े पूंजीपति लाभान्वित हो रहे हैं। आम जनता की बैंक में जमा की गयी मेहनत की कमाई को अम्बानी-अडानी-विजय माल्या का कर्ज माफ करने में मोदी सरकार ने लगा दिया है। मेहनतकश जनता , आम आदमी नोटबंदी से परेशान हैं। लाखों मजदूरों का रोजगार नोटबंदी से छिन गया है, किसान बीज, खाद, पानी न मिलने से परेशान है, छोटे उद्योग व व्यापार बंद होने की कगार पर हैं। लेकिन मोदी सरकार इसे अच्छे दिन बोल रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने नोटबंदी कर जिस कालेधन और जाली नोट को...

Read More

भाकपा(माले) के विधाना सभा प्रत्याशी कॉमरेड पुरूषोत्तम शर्मा ने बैठक कर लोगों की समस्याएं सुनीं

लालकुआं,  5 दिसम्बर 2016 भाकपा(माले) के राज्य कमेटी सदस्य पुरूषोत्त शर्मा ने लालकुआं विधानसभा में स्थित खत्तों का दौरा कर रेखाल खत्ता व डोली खत्ता में बैठक कर लोगों की समस्याएं सुनी और विधानसभा चुनाव में उनके मुद्दों पर उठाने की बात कही। इस दौरान खत्तों में हुई बैठक को सम्बोधित करते हुए भाकपा(माले) प्रत्याशी कॉमरेड पुरूषोत्तम शर्मा ने विपक्ष विहीन उत्तराखंड विधानसभा में जनसंघर्षों की आवाज भाकपा (माले) को पहुंचाने की अपील की। आजादी के 70 साल तक भाजपा-कांग्रेस ने खत्तों में 1 लाख से ज्यादा आबादी को कोई भी बुनियादी व नागरिक पहचान दिलाने के बजाय वोट बैंक के रूप में ही इस्तेमाल किया है। 2011 से खत्तावासियों को आंदोलन से जोड़कर भाकपा माले ने कई सुविधाओं को दिलाया है। खत्तों का परिवार रजिस्टर बनवाना, समाज कल्याण विभाग की योजनाओं का लाभ, पहचान पत्र, आधार, आंगनबाड़ी केंद्र, आशा, सरकारी स्कूल और गोबर की बिक्री का अधिकार जैसे अधिकार खत्तावासियों को भाकपा (माले) के आंदोलन से मिले। उन्होंने कहा कि अगर वे लालकुआं से विधानसभा चुनाव जीतते हैं तो बिन्दुखत्ता सहित सभी खत्तों और वन भूमि पर बसे सभी गांवों को स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौंचालयों का अनुदान दिलाएंगे। उन्होंने कहा कि खत्तों को ग्राम पंचायतों से जोड़ने और उन्हें विकास की मुख्य धारा जोड़ने के लिए माले संकल्पबद्ध है। कामरेड शर्मा ने कहा कि खत्ता वासियों, वन भूमि पर बसे लोगों तथा लालकुआं की मजदूर बस्तियों...

Read More

फीडेल कास्‍त्रो अमर हैं !

क्‍यूबा की क्रांति के प्रतिष्ठित नेता और विश्‍व भर में साम्राज्‍यवाद विरोधी संघर्षों को ऊर्जा देने वाले महान क्रांतिकारी फीडेल कास्‍त्रो रूज के सम्‍मान में भाकपा (माले) अपना झण्‍डा झुकाते हुए श्रद्धांजलि व्‍यक्‍त करती है. फीडेल कास्‍त्रो ने दमनकारी बातिस्‍ता शासन से मुक्‍त कराने वाली क्‍यूबा की सफल क्रांति का नेतृत्‍व किया था और फिर एक के बाद एक आने वाले अमेरिकी शासकों की छोटे से क्रांतिकारी देश क्‍यूबा को बरबाद करने की साजिशों का सफलतापूर्वक मुकाबला किया. सीआईए द्वारा 600 से ज्‍यादा बार फीडेल की हत्‍या की कोशिशें की गईं लेकिन हर बार उन्‍हें नाकाम करते हुए 90 वर्ष की परिपक्‍व उम्र में फीडेल ने हमसे विदा ली. अमेरिका, एक ऐसा देश जो खुद को ‘लोकतंत्र’ का चैम्पियन बताते नहीं थकता, और उसके साथ अपनी साम्राज्‍यवादी राजनीति से असहमति रखने वाले दुनिया के राजनेताओं की हत्‍यायें करवाता रहता है, के हाल ही में चुने गये राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रम्‍प ने फीडेल कास्‍त्रो के बारे में ‘एक बर्बर तानाशाह’ जैसे शब्‍दों का प्रयोग कर अपने बचकानेपन को जाहिर कर खुद को ही दुनिया के सामने हास्‍यास्‍पद बनाया है. हर बार हत्‍या की साजिशों को नाकाम करने की फीडेल की जिद और हत्‍यारे साम्राज्‍यवादियों के सामने हमेशा प्रतिरोध की मजबूत दीवार बने रहने के पीछे दरअसल क्‍यूबा और उस देश की जनता की अदम्‍य क्रांतिकारी इच्‍छाशक्ति अभिव्‍यक्‍त होती रही. साम्राज्‍यवादियों द्वारा अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार प्रतिबंधों की जकड़न में डालने के बावजूद क्‍यूबा...

Read More

500 और 1000 के नोटों का विमुद्रीकरण : आम जनता के लिए आर्थिक आपातकाल, काला धन जमाखोरों के लिए नये अवसर

– दीपंकर भट्टाचार्य – 9 नवम्बर वह दिन था जब मोदी सरकार के आदेश पर एनडीटीवी इण्डिया चैनल को एक दिन के लिए बंद किया जाना था ताकि मीडिया को ‘राष्ट्रीय सुरक्षा‘ और ‘जिम्मेदार पत्रकारिता‘ का पाठ पढ़ाया जा सके। लेकिन इस अघोषित आपातकाल को पूरे देश में विरोध का सामना करना पड़ा, फलस्वरूप सरकार पीछे हटने पर मजबूर हुई और यह प्रतिबंध लागू होने से रुक गया। जनता इसके बाद राहत की सांसें ले पाती, कि नरेन्द्र मोदी ने अचानक एक घोषणा कर दी वह भी ‘आर्थिक आपातकाल‘ से कम नहीं है। 8 नवम्बर की मध्य रात्रि से 500 और 1000 के नोट गैरकानूनी घोषित कर दिये गये। एक ही झटके में सरकार ने 14 लाख करोड़ रुपये यानि प्रचलन में मौजूद कुल भारतीय मुद्रा के 86 प्रतिशत को रद्दी कागज में बदल दिया। मोदी और उनके मंत्री एवं उनके पक्ष में जनमत बनाने वाले तुरंत हरकत में आ गये और इस कदम को काले धन के विरुद्ध एक निर्णायक एवं अभूतपूर्व युद्ध, एक और सर्जिकल स्ट्राइक, की संज्ञा दे डाली। हालांकि यह पहली बार नहीं है जब भारत में मुद्रा का विमुद्रीकरण हुआ हो। आजादी की पूर्व संध्या पर 1946 में 1000 और 10000 के नोट रद्द किये गये थे, जो कि 1954 में 1000, 5000 और 10000 के मूल्यों में पुनः जारी किये गये। बड़े मूल्य वाले इन नोटों को मोरारजी देसाई की सरकार द्वारा जनवरी 1978में एक बार फिर रद्द कर दिया गया था। हाल ही में जनवरी 2014 में किये गये आंशिक विमुद्रीकरण को भी हमने देखा जब वर्ष 2005से पहले छपे 500 और 1000 के सभी नोटों को प्रचलन से वापस लिया गया था। इसलिए अब यह बताने...

Read More

बिन्दुखत्ता नगर पालिका वापसी का शासनादेश जारी करने की मांग पर भाकपा (माले) का एक दिवसीय धरना 16 नवम्बर को

बिन्दुखत्ता, 7 नवम्बर 2016, भाकपा (माले)और अखिल भारतीय किसान महासभा ने 16 नवम्बर को बिन्दुखत्ता नगर पालिका वापसी का शासनादेश जारी करने की मांग पर लालकुआं तहसील में विरोध धरना आयोजित करने की घोषणा की है। इस संबंध में आज कार रोड कार्यालय में दोनों संगठनों के मुख्य पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक हुई। भाकपा (माले) के वरिष्ठ नेता और अखिल भारतीय किसान महासभा के प्रदेश अध्यक्ष पुरुषोत्तम शर्मा ने इस एक दिवसीय धरने की घोषणा करते हुए कहा कि रावत सरकार बिन्दुखत्ता वासियों के साथ धोखा कर रही है। उन्होंने कहा कि दो माह बीतने के बाद भी सरकार ने बिन्दुखत्ता नगर पालिका वापसी का शासनादेश जारी नहीं किया है। इसके साथ ही 14  अक्टूबर 2015 की आंदोलनकारियों पर लादे गए झूठे मुकदमे को भी इस सरकार ने वापस नहीं लिया है। कामरेड शर्मा ने आरोप लगाया कि भूमि के मालिकाना के सवाल पर रावत सरकार गरीबों को गुमराह कर रही है। उन्होंने बिन्दुखत्ता की भूमि के मालिकाना हक के लिए भूमि के हस्तान्तरण की प्रक्रिया शुरू नहीं कराने के लिएट हरीश रावत सरकार की कड़ी  आलोचना की। श्री शर्मा ने बताया कि उपरोक्त तीनों मांगों को लेकर लालकुआं तहसील पर यह विरोध धरना होगा। बैठक में राजेन्द्र शाह, कैलाश पाण्डेय, बसंती बिष्ट, पुष्कर दुबड़िया, गोविंद जीना, सुरमा देवी, विमला रौथाण, मोहन सिंह थापा, पान सिंह कोरंगा, नारायण सिंह, मंगल सिंह कोश्यारी, विपिन बोरा,  छविराम, ललित मटियाली आदि लोग...

Read More

भाकपा(माले) की राज्य कमेटी की बैठक में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए पुरुषोत्तम शर्मा तथा इंद्रेश मैखुरी का नाम तय

भाकपा(माले) की राज्य कमेटी की गोपेश्वर में चल रही दो दिवसीय बैठक के मौके पर आयोजित प्रेस वार्ता में भाकपा(माले) ने राज्य के जन सरोकारों के मुद्दों को उठाते हुए आगामी विधान सभा चुनावों के लिए अपनी रणनीति घोषित करते हुए अपने उम्मीदवारों की घोषणा की। पार्टी के राज्य सचिव कॉमरेड राजेन्द्र प्रथोली ने कहा कि, “भाकपा(माले) आगामी विधानसभा चुनाव अन्य वामपंथी पार्टियों के साथ मिल कर लड़ेगी। इस दिशा में बातचीत जारी है। प्राथमिक रूप से भाकपा(माले) दो विधानसभा क्षेत्रों-लाल कुआँ में कामरेड पुरुषोत्तम शर्मा और कर्णप्रयाग में इन्द्रेश मैखुरी को अपना प्रत्याशी घोषित करती है। शेष प्रत्याशियों की घोषणा अन्य वामपंथी पार्टियों के साथ चर्चा के पश्चात की जायेगी।” वार्ता को सम्बोधित करते हुए कॉमरेड प्रथोली ने कहा कि, “उत्तराखंड में सत्तासीन हरीश रावत सरकार माफियायों की संरक्षक सरकार है। जिसका पूरा ध्यान शराब, खनन जैसे मामलों पर ही है। प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयी है। कुछ दिन पूर्व बागेश्वर में दलित युवक सोहन राम की हत्या हो गयी। कल ही रुद्रपुर में एक युवती के साथ बलात्कार की घटना सामने आई है। इससे पहले रुद्रपुर में ही मजदूरों के हकों के लिए संघर्षरत ट्रेड यूनियन नेता और एक्टू के प्रदेश महामंत्री कामरेड के.के.बोरा पर अपराधी तत्वों ने जानलेवा हमला किया। यह सब इसलिए हो रहा है क्योंकि उत्तराखंड में विधानसभा में विपक्ष सिरे से गायब है। जनता के मुद्दे केंद्र में आयें –...

Read More

गोपेश्ववर (चमोली) में भाकपा(माले) की राज्य कमेटी की दो दिवसीय बैठक प्रारंभ

भाकपा(माले) की राज्य कमेटी की दो दिवसीय बैठक आज प्रारंभ हुई. बैठक को संबोधित करते हुए भाकपा(माले) के राज्य सचिव कामरेड राजेन्द्र प्रथोली ने कहा कि अच्छे दिनों का वायदा लेकर सत्ता में आई केंद्र की मोदी सरकार के राज में देश के मेहनतकश गरीबों, मजदूरों, किसानों के दुर्दिन आ गए हैं. मंहगाई, बेरोजगारी अपने चरम पर है. औद्योगिक विकास की दर पिछले एक दशक में सबसे निम्नतम स्तर पर पहुँच गयी है. दालों सहित तमाम जरुरी चीजों की कीमतें आसमान छू रही हैं. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों 40 डॉलर प्रति बैरल तक नीचे आ चुकी हैं. परन्तु मोदी सरकार तेल कंपनियों की जेबें भरने के लिए आये दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी कर रही है. माले के राज्य सचिव ने कहा कि मोदी सरकार सीमा पर मौजूदा तनाव को उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव में चुनावी फायदे के लिए भुनाना चाहती है. इसलिए पूरे देश में युद्धोन्माद पैदा किया जा रहा है. युद्धोन्माद और साम्प्रदायिक घृणा की आड़ में जहां चुनाव जीतने के जतन किये जा रहे हैं, वहीं रक्षा सौदों में कमीशन खोरी के किस्से भी छन-छन कर बाहर आ रहे हैं. भाजपा सांसद वरुण गाँधी के मामले में एक विदेशी व्हिसिल ब्लोअर द्वारा प्रधानमन्त्री को भेजी चिट्ठी से एक बार फिर यह साफ़ हुआ कि राष्टवाद के नाम पर पूरे देश में उन्माद पैदा करने वाली...

Read More
LIBERATION - Central Organ of CPI(ML) October 2017

LIBERATION - Central Organ of CPI(ML) October 2017