March to PM House Against Anti-Poor Demonetisation, 26th November

Join March to PM House Against Anti-Poor Demonetisation 26th November, from Mandi House at 1pm   Friends, On 8th November at 8pm the Prime Minister Narendra Modi suddenly declared that the Rs. 500 and Rs. 1000 notes, valid till then, will not be in use anymore. We were told by the PM and subsequently by several media houses that this was done to curb black money and fake currency. And this is what the country

Comrade Swapan Mukherjee Is No More

New Delhi, 6 September 2016. The CPI(ML) Central Committee is deeply shocked and grieved to announce the untimely demise of CPI(ML) Politburo member Comrade Swapan Mukherjee. He suffered an unexpected heart attack and passed away suddenly around 4.15 am this morning at a comrade's home in Chandigarh, where he had gone for a meeting. Comrade Swapan was born on 17 November 1953. His father was a central government employee. As a B.Sc.

कामरेड स्वपन मुखर्जी नहीं रहे

नई दिल्ली, 06 सितम्बर, 2016 पार्टी पोलिट ब्यूरो सदस्य कॉमरेड स्वपन मुखर्जी की असामयिक मृत्यु की खबर देते हुए भाकपा (माले) केन्द्रीय कमेटी दुःख और गहरा सदमा महसूस कर रही है. वे एक बैठक के सिलसिले में चंडीगढ़ गए थे और वहीं एक साथी के घर पर रुके थे. सुबह के सवा चार बजे अचानक दिल का दौरा पड़ने के कारण उनकी मृत्यु हुई. उनकी पैदाइश 17 नवंबर, 1953 को हुई. उनके

आम बजट 2016-17: सरकार का एक और विश्वासघात

नई दिल्ली, 29 फरवरी 2016. आज अरुण जेटली द्वारा पेश किया गया बजट आम जनता की जरूरतों और भारतीय अर्थव्यवस्था की चुनौतियों को हल करने से बहुत दूर है। बढ़ती आर्थिक कठिनाइयों के लिए सारा दोष ‘एक कठिन वैश्विक माहौल, विपरीत मौसम और राजनीतिक वातावरण’ पर डाल दिया गया है। इस बजट में खाद्य सुरक्षा कानून का जिक्र ही नहीं है जो कि अभी तक पूरी तरह से लागू ही नहीं हो

बिहार चुनाव परिणामों पर भाकपा (माले) का वक्‍तव्‍य

नई दिल्‍ली, 8 नवम्‍बर 2015 भाकपा (माले) नरेन्‍द्र मोदी और भाजपा की विभाजनकारी राजनीति और विनाशकारी नीतियों के खिलाफ जबर्दस्‍त जनादेश देने के लिए बिहार के नागरिकों को तहेदिल से धन्‍यवाद देती है. बिहार ने इस जनादेश के जरिये पूरे देश की भावनाओं को अभिव्‍यक्‍त किया है और यह जनादेश देशभर में लोकतंत्र के बचाव में चल रहे किसानों, मजदूरों, छात्रों, लेखकों, वैज्ञानिकों और बुद्धिजीवियों के आंदोलनों को प्रेरणा देगा. जाहिर

कन्‍नड़ विद्वान प्रो. कलबुर्गी हत्‍या संघी दहशतगर्दी को सरकारी संरक्षण का नतीजा

नई दिल्ली, 31 अगस्त। भाकपा(माले) प्रख्‍यात कन्‍नड़ विद्वान व हम्‍पी विश्‍वविदृयालय के पूर्व उपकुलपति एम.एम. कलबुर्गी की हत्‍या की कड़ी भर्त्‍सना करती है. प्रो. कलबुर्गी की कल धारवाड. में उनके घर में हत्‍या कर दी गई थी. सतहत्‍तर वर्षीय प्रो. कलबुर्गी अपने तर्कवादी विचारों और दिवंगत यू.आर. अनंतमूर्ति का समर्थन करने के कारण बजरंग दल जैसे संघी संगठनों के निशाने पर थे. नरेन्‍द्र दाभोलकर और गोविन्‍द पान्‍सरे के बाद कलबुर्गी तीसरे

हमारी शिक्षा : भारत को फिर से धार्मिक पाखण्ड व अंधविश्वासों की अंधेरी सुरंग में धकेलने की कोशिश

भोजन, आवास, शिक्षा व स्वास्थ्य हमारे मानव समाज की बुनियादी जरूरतों में शामिल हैं। आज इन सब में शिक्षा ने सर्वोच्च स्थान ग्रहण कर लिया है। कारण कि हमारे मानव समाज ने आज यह मान लिया है कि बेहतर शिक्षा की बदौलत ही बेहतर भोजन, बेहतर आवास और बेहतर स्वास्थ प्राप्त किया जा सकता है। आजादी के बाद भी सरकार द्वारा प्रयाप्त स्कूल-कालेज उपलब्ध न करा पाने के कारण अपनी

दिल्ली में श्रमिक-कामगारों पर पुलिस लाठीचार्ज निंदनीय

25 मार्च। दिल्ली विधानसभा चुनावों के दौरान आम आदमी पार्टी द्वारा श्रमिक-कामगारों को लेकर किये गये वादों को पूरा करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर दिल्ली पुलिस द्वारा किए गये लाठीचार्ज की भाकपा (माले) कड़ी भर्त्सना करती है। साफ है कि दिल्ली के गरीबों और आम जनों के अपने अधिकारों को लेकर किए जाने वाले शांतिपूर्ण प्रदर्शनों को लेकर सरकार का रुख वही है जो पूर्ववर्ती सरकारों

आम बजट 2015-16 पर भाकपा (माले) की प्रतिक्रिया

अरुण जेटली द्वारा पेश पहले सम्पूर्ण बजट में अमीरों के लिए तो भरपूर रियायतें दी गई हैं लेकिन टैक्स बढ़ा कर और समाज कल्याण की मदों में कटौती कर आम लोगों पर बोझ और ज्यादा बढ़ा दिया गया है। बजट में कॉरपोरेट क्षेत्र को फायदे और रियायतें तो दी जा रही हैं, लेकिन वैश्विक स्तर पर तेल की कीमतों में भारी कमी के बावजूद इसका लाभ साधारण जन और समाज